दुर्गा माता के नव स्वरूप ( पहला स्वरूप)

शैल का अर्थ पर्वत, हिमालय पर्वत की पुत्री यानी देवी पार्वती, शैलपुत्री कहलाती है। दुर्गा माता के पहले स्वरूप ने पहाड़ से जन्म लिया है।

पहले दिन दुर्गा माता के शैलपुत्री स्वरुप की पूजा की जाती है।

आज से शुरू हुए नवरात्रि के उत्सव की आप सभी को शुभकामनाएं।

नवरात्रि मतलब शक्ति की आराधना का पर्व, दुर्गा माता की आराधना का पर्व। दुर्गा माता के नव स्वरूप है, हर दिन अलग अलग स्वरूप का है, मै आप सभी को हर दिन, माता के एक स्वरूप की जानकारी दूंगी।

4 comments

Leave a Reply