दुर्गा माता के नव स्वरूप

पहला स्वरूप – शैलपुत्री दूसरा स्वरूप – ब्रह्मचारीणी तीसरा स्वरूप – चंद्रघंटा (सुंदरता और निर्भयता का स्वरूप) चौथा स्वरूप – कूष्माण्डा पांचवा स्वरूप – स्कन्ध

प्रेम के छह लक्षण (Six signs of love)

ददाति प्रतिगृह्णाति गुह्यमाख्याति पृच्छति।भुङ्क्ते भोजयते चैव षड्विधं प्रीतिलक्षणम्।। अर्थात्: देना, लेना, एक-दूसरे के रहस्य बताना, रहस्य के बारे में कुछ भी पूछना, खाना और खिलाना

तुम्हारा साथ

तुम्हारा साथ मतलब खूबसूरत पल। तुम्हारा साथ मतलबआज के लिए, बहुत सारी खुशियां,कल के लिए, बहुत सारी यादें। तुम्हारा साथ, मुझे उर्जा देता है,जैसे फूलों

प्रेम (Reblog)

प्रेम अगर दवा है तो मर्ज भी है। प्रेम अगर सुकून है तो बैचेनी भी है। प्रेम अगर खुशी है तो दर्द भी है। प्रेम

કવિતા નું સૌંદર્ય/ कविता का सौंदर्य/ Beauty of the Poem (#લઘુકાવ્ય #लघुकाव्य #shortpoem – 1)

Hindi Translation: कविता का सौंदर्य नये नये शब्द,जैसे श्रृंगार कर रहे हैं,हमारे मन में। नये नये जज़्बात,जैसे श्रृंगार कर रहे हैं,हमारे दिल में। और काग़ज़

तराजू (Scales)

जीवन के तराजू में खुशी और गम, दोनो का पलड़ा, कोई एक तरफ ही नही जूकेगा, संतुलन बना ही रहेगा। आप पर खुशीयों की बारिश

1 2 3