दुर्गा माता के नव स्वरूप

पहला स्वरूपशैलपुत्री

दूसरा स्वरूपब्रह्मचारीणी

तीसरा स्वरूपचंद्रघंटा (सुंदरता और निर्भयता का स्वरूप)

चौथा स्वरूपकूष्माण्डा

पांचवा स्वरूपस्कन्ध माता (मातृ स्वरूप)

छठा स्वरूपकात्यायनी (अंतरज्ञान चेतना का स्वरूप)

सातवां स्वरूपकालरात्रि

आठवां स्वरूप महागौरी

नौवा स्वरूपसिद्धीदात्री

2 comments

Leave a Reply