तराजू (Scales)

जीवन के तराजू में खुशी और गम, दोनो का पलड़ा, कोई एक तरफ ही नही जूकेगा, संतुलन बना ही रहेगा। आप पर खुशीयों की बारिश

नयी सुबह

जो आरजू थी मेरी,उसको पा लिया। पाने के बाद की,पहली सुबह आई। तो कुछ एसाहाल हुआ हमारा। नयी किरण लेकर,नयी सुबह आई। कैसा है खिला

1 15 16 17 18 19 28