ममता के कई रूप #Happy Women’s Day

स्त्री का हर रूप, ममता की मूरत है,
बेटी हो या बहन, पत्नी हो या माँ हो,
हर रूप ममता से छलकता है।

एक बेटी अपने पिता की
हर छोटी-छोटी बात का ख्याल रखती है,
ये ममता का ही रूप है।

एक लड़की अपने भाई पर,
बेशुमार प्यार लुटाती है,
ये ममता का ही रूप है।

एक स्त्री अपने परिवार की
पूरे दिल से देखभाल करती है,
ये ममता का ही रूप है।

एक स्त्री अपने रिश्तेदारों की,
कमीयों को दुनिया से छिपा लेती है,
ये ममता का ही रूप है।

माँ बनने के बाद ही,वो ममता लुटाती नहीं,
माँ बनने के पहले से ही, वो ममता लुटाती है,
उस के रोम-रोम में ममता छिपी है।

स्त्री का हर रुप, ममता की मूरत है,
बेटी हो या बहन, पत्नी हो या माँ हो,
हर रूप ममता से छलकता है।

8 comments

Leave a Reply