तराजू (SCALES) – Reblog

जीवन के तराजू में खुशी और गम, दोनो का पलड़ा, कोई एक तरफ ही नही जूकेगा, संतुलन बना ही रहेगा।

आप पर खुशीयों की बारिश हो रही हो,
तो भी अपने पैर जमी पर ही रखना।

आप पर गम की बारिश हो रही हो,
तो भी अपने दिल को तूटने मत देना।

जीवन का सही मायने में विकास,
खुशी और गम दोनो का अनुभव करने से ही होता है।

English Translation:

Life is never unfair, in the scales of life, both happiness and sorrow play an equal role, always there is a balance. You will not experience happiness all the time and you will not experience sorrow all the time.

If you are at the peak of happiness or success,
Always be a down-to-earth person.
This too shall pass.

If you are at the peak of sorrow or failure,
Don’t lose hope or falling apart.
This too shall pass.

The real growth of life lies in experiencing happiness and sorrow.

13 responses to “तराजू (SCALES) – Reblog”

Leave a Reply

%d bloggers like this: