गणेश विसर्जन मंत्र और संदेश

यान्तु देवगणा: सर्वे पूजामादाय पार्थिवीम।इष्टकामप्रसिद्य्दयर्थ पुनरागमनाय च।। मंत्र का अर्थ:- हे भगवान गणेश, आपकी हम एक मूर्ति के (पार्थिव) स्वरुप में पूजा कर रहे है,

गणेश उत्सव

गणपति भगवान के १२ नाम और अर्थ (ગણપતિ ભગવાનના ૧૨ નામ અને અર્થ) गणपति भगवान के प्रतीक और अर्थ  (ગણપતિ ભગવાનના પ્રતીક અને અર્થ) गणेश

महा मृत्युंजय मंत्र

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनात् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥ मंत्र का अर्थ:- ॐ- यह ईश्वर का वाचक है, परब्रह्म का प्रतिक है। हम त्रि- नेत्र

1 2 3 4 5 6 17