दो चेहरे

चेहरे के पीछे चेहरा,एक ही व्यक्ति के दो चेहरे। जो उसकी तारीफें करता फिरे,उसके साथ अच्छा वाला चेहरा। वाहवाही लुटने का मज़ा,जो आता है उसे।

विचारों की माला- (हास्य रस) (शरारत भरे अंदाज़) खतरों के खिलाड़ी

हम खतरों के खिलाड़ी नहीं है,हम तो खुद एक खतरा है।जो हम से खेलता है,जो हमको निभा पाता है,वो खुद एक खिलाड़ी बन जाता है।

सीखते रहिए

सीखते रहिए,हर दम जीवन में,सीखते रहिए। कुछ खोकर सीख लीजिए,कुछ पाकर सीख लीजिए। कुछ हंसकर सीख लीजिए,कुछ रोकर सीख लीजिए। कुछ ठोकर खाकर सीख लीजिए,कुछ

इश्क की हवा

किसी का साथ, दिल बस चाहने लगे,किसी का नाम, सांसें बस लेने लगें,तो समझ लो,इश्क की हवा चली। कुछ बताना है, पर बता न पाए,कुछ

1 2 3 4 5 30