Thanks a ton! Another Milestone

Thank you to all my readers who read my blogs regularly, give beautiful comments and communicate with me on my blog. Thanks a million to my readers, fellow bloggers, family, and friends who shower love and blessings on my blogs. I developed a lot through writing, I explored a lot in this writing journey, and... Continue Reading →

सेवाभावी कार्य

जैसे फूलों की महकमन को प्रसन्न करती है,वैसे अपने सेवाभावी कार्यो की महक सेदूसरों के मन को प्रसन्नता दे।

हाइकु काव्य रचना (9)

मनमौजी हूंखुद में मगन हूं,एसी ही हूं मैं। ज़िंदादिल हूंखुद के अंदाज़ सेचलती हूं मैं। अन्य हाइकु काव्य रचनाएं हाइकु काव्य रचना (1) हाइकु काव्य रचना (2) हाइकु काव्य रचना (3) हाइकु काव्य रचना(4) हाइकु काव्य रचना (5) हाइकु काव्य रचना (6) हाइकु काव्य रचना (7) हाइकु काव्य रचना (8)

મજાક (मज़ाक)

हिंदी में अनुवाद: मज़ाक के बहाने दूसरों की कमी निकालना, दूसरों के जज़्बात को ठेस पहुंचाना, नकारात्म्क शब्दों का प्रयोग करना, अपने मन की कुंठा प्रदर्शित करना ये उचित नहीं है। एसे वर्तन को मानसिक अस्थिरता कहते है। मज़ाक का उद्देश्य आनंद फैलाना है, निराशा फैलाना नहीं है।

Recognition

Proud moment as a writer☺️I feel grateful for this appreciation. Thanks a ton to my readers and YourQuote community.

Website Powered by WordPress.com.

Up ↑