मेरे विचारों की माला #राह #बेरंग #दुनिया की शक्ल #खुद के अंदाज़

लोग जिस राह पर चलाना चाहते हैं, उस राह पर ज़बरदस्ती से चलकर हम बेरंग हो जाते है पर खुद की इच्छाओं को जानकर, खुद के रंगों को जानकर, राह चुनेंगे तो ज़िंदगी में खूबसूरती का रंग होगा।

दुनिया की शक्ल में ढलकर बेरंग नहीं होना है,
पर खुद के अंदाज़ में रहकर खुद के रंग दुनिया को दिखाने है।

8 comments

  1. बहुत बढ़िया
    बहुत सही है कहा आपने
    गए जमाने वो यहा
    थे दुनिया से हम कभी
    अब दुनिया हम से होगी यहां।।

    नियत भावना अगर साफ सदा हो
    कोई मुश्किल नही है यहा
    राह चुने जो सत्य की कभी
    मंजिल आसान उसकी सदा।।

    very nice
    You are very right
    Gone are the days
    Were we ever from the world
    Now the world will be here with us.

    If there is always a clear feeling
    No problem here
    Choose the path of truth
    Always easy on the floor.

  2. इसलिए तो कहा गया है दीदी “जगत सपना है नाथ जी ही अपना है”🌺😊

Leave a Reply