मेरे लिए, तुम क्या हो?

मेरे लिए, तुम क्या हो?
तुम ने मुझे, क्या दिया है?

तुम वसंत हो, मेरे जीवन की।
तुम बहार हो, मेरे जीवन की।

तुम रौनक हो, मेरे जीवन की।
तुम चमक हो, मेरे जीवन की।

मेरे अधुरेपन को,
तुने पूर्णता दी है।

मेरे तन्हा दिल को,
तुने साथ दिया है।

तुम श्रृंगार हो मेरे,
तुमने ज़िंदगी को सजा दिया।

2 comments

Leave a Reply