बारिश जब भी आती है

बारिश जब भी आती है,
तो मेरा मन भी भीगा जाती है।

बारिश की बूंदों की आवाज़
कुछ और भी दे जाती है।
ताल दे जाती है,
ताल मेरे मन को प्रकृति में खो जाने की।

बारिश की बूंदों की आवाज़
कुछ और भी दे जाती है।
आहट दे जाती है,
आहट मेरे सपने पूरे होने की।

बारिश जब भी आती है,
तो मेरे लिए खास बन जाती है।

2 comments

Leave a Reply