भाई-बहनका रिश्ता

बांधती है राखी बहन अपने भाईको,
राखी तो एक बहाना है प्यार जतानेका,
भाई-बहनका रिश्ता ही है अनोखा!

अगर एक- दूसरेकी खिचातानी है,
तो भी दिल में प्यार ही है!
अगर एक- दूसरे से दूर रहते है,
तो भी दिल से पास ही है!
अगर एक-दूसरे से लडाई है,
तो भी दिल में प्यार ही है!

एक एसा रिश्ता है ये,
जिसमें एक-दूसरे से दोस्ती है,
जिसमें एक-दूसरे के राझ छिपे है,
जिसमें हरदम साथ छिपा है,
जिसमें छांव है, हूंफ है!

बांधवाता है राखी भाई अपनी बहनसे,
राखी तो एक बहाना है प्यार जतानेका,
भाई-बहनका रिश्ता ही है अनोखा!

4 comments

  1. बहुत खूबसूरत कविता।
    भाई और बहन का पर्व रक्षाबन्धन की ढेर सारी शुभकामनाएं।

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s