भाई-बहन का रिश्ता

बहन अपने भाई को राखी बांधती है,
राखी तो एक बहाना है प्यार जताने का,
भाई-बहन का रिश्ता ही है अनोखा!

अगर एक- दूसरे की खिचातानी है,
तो भी दिल में प्यार ही है!
अगर एक- दूसरे से दूर रहते है,
तो भी दिल से पास ही है!
अगर एक-दूसरे से लडाई है,
तो भी दिल में प्यार ही है!

एक एसा रिश्ता है ये,
जिस में एक-दूसरे से दोस्ती है,
जिस में एक-दूसरे के राज़ छिपे है,
जिस में हरदम साथ छिपा है,
जिस में छांव है, हूंफ है!

भाई अपनी बहन से राखी बंधवाता है,
राखी तो एक बहाना है प्यार जताने का,
भाई-बहन का रिश्ता ही है अनोखा!

6 comments

  1. बहुत खूबसूरत कविता।
    भाई और बहन का पर्व रक्षाबन्धन की ढेर सारी शुभकामनाएं।

  2. शब्द नहीं मिले कहने के लिये कि कितना अच्छे भाव हैं…सुंदर

Leave a Reply