शिव षडक्षर स्तोत्र (६ अक्षर: ॐ नमः शिवाय)

शिव भगवान का पंचाक्षर मंत्र है:नमः शिवाय।और षडक्षर मंत्र है:ॐ नमः शिवाय। मंत्र के साथ, स्तोत्र भी है। आज महाशिवरात्रि की सब को शुभकामनाएं। आप

संस्कृत सुभाषित (1)

सुखार्थिन: कुतोविधा नास्ति विधार्थीन: सुखम। सुखार्थी वा त्यजेद विधां विधार्थी वा त्यजेद सुखम्:।। अर्थात सुख पाने वाले को विधा नही मिल सकती है वैसे ही

चिंता का पहाड

चिंता के विषय पर संस्कृत सुभाषित: चिता चिंता समानाडस्ति बिंदुमात्र विशेषत:।सजीवं दहते चिंता निर्जीवं दहते चिता।।अर्थात्चिता और चिंता समान कही गयी है पर उसमें सिर्फ

महा मृत्युंजय मंत्र

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उर्वारुकमिव बन्धनात् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥ मंत्र का अर्थ:- ॐ- यह ईश्वर का वाचक है, परब्रह्म का प्रतिक है। हम त्रि- नेत्र

1 2 3 4