वाणी पर संयम #लघुकाव्य-5

कड़वे बोल न चुने,मीठे बोल चुने।मिठास को बढ़ाए,रिश्तों को निभाए।मन में कड़वाहट न रखें,मन में बड़प्पन रखें।जीवन निखर जाएगा,रिश्ता संवर जाएगा,वाणी पर संयम से। My Book Now Available on Amazon Kindle अन्य ब्लॉग:बारिश की बूंदें શબ્દોની કમાલ / शब्दों की कमाल કવિતા નું સૌંદર્ય/ कविता का सौंदर्य लघुकाव्य-1 રાખ થઈ જાય સંબંધો / राख हो जाए... Continue Reading →

उपनिषद वचन

“अन्नं ब्रह्म।” यह वचन उपनिषद में है, जिसका सीधा सीधा शाब्दिक अनुवाद करें तो एसा होगा कि भोजन ब्रह्म है। [अंग्रेजी में फुड इज गोड( Food is God)] पर इतने महत वचनों के सीधे सीधे शाब्दिक अनुवाद नहीं होते, एसे वचनों को समझना पड़ता है, गहराई के भाव को जानना पड़ता है। “अन्नं ब्रह्म” का... Continue Reading →

#QUOTE #ESTUARY #EPITOME OF LOVE

The estuary is an epitome of true love. The river flows towards the ocean like the way love should flow towards our loved-ones with devotion and selflessness.Harina EPITOME #QUOTE #SIMILARITIES #DIFFERENCES स्वयं अपना नेतृत्व करें (BE YOUR OWN LEADER ) मेरी पहली किताब Buy Now: Jivan Ke ShabdAmazon Link: Jivan Ke Shabd

उपनिषद वचन

"अन्नं ब्रह्म।" यह वचन उपनिषद में है, जिसका सीधा सीधा शाब्दिक अनुवाद करें तो एसा होगा कि भोजन ब्रह्म है। [अंग्रेजी में फुड इज गोड( Food is God)] पर इतने महत वचनों के सीधे सीधे शाब्दिक अनुवाद नहीं होते, एसे वचनों को समझना पड़ता है, गहराई के भाव को जानना पड़ता है। "अन्नं ब्रह्म" का... Continue Reading →

Website Powered by WordPress.com.

Up ↑