इश्क

जो रुह को रुह से मिला दे, वो ही तो इश्क है! जो मुझे तेरी परछाई बना दे, वो ही तो इश्क है! दिल है

दिवानगी

मेहबूबपे मरके तो जीना आ गया, दिवाना बनके ही तो जीना आ गया! मिली जिंदगी मेहबूबपे मरके, एसी दिवानगी करके तो देखो! सपनोंपे मरके ही तो खिल गई रौशनी, सपनोंको जीया तो खिल गई जिंदगी! मिली रौशनी सपनोंपे मरके, एसी दिवानगी करके तो देखो! दोस्तोंपे जान छिड़कने से ही तो मिली खुशहाली, दोस्ती निभाने से […]

1 16 17 18 19