इश्क की हवा

किसी का साथ, दिल बस चाहने लगे,
किसी का नाम, सांसें बस लेने लगें,
तो समझ लो,
इश्क की हवा चली।

कुछ बताना है, पर बता न पाए,
कुछ छुपाना है, पर छुपा न पाए,
तो समझ लो,
इश्क की हवा चली।

खुशी की महक,
देती रहेगी इश्क की हवा।
अरमां जगनें की महक,
देती रहेगी इश्क की हवा।

6 comments

Leave a Reply to Sahil Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s